2019 के लोकसभा चुनाव में फतेह के लिए CM योगी ने बुलाई बैठक

By - May 14, 2018 09:17 AM
2019 के लोकसभा चुनाव में फतेह के लिए CM योगी ने बुलाई बैठक

गोरखपुरः 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। जहां एक ओर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अपने पारिवारिक विवाद को खत्म कर अपनी पार्टी को मजबूत करने में लगे हुए हैं तो वहीं सीएम योगी ने भी गोरखपुर के जीडीए सभागार में आसपास के 3 मंडलों के सांसद, विधायक और सहयोगी दलों के नेताओं के साथ बैठक की।
जनता की परेशानियों का हल करने के दी हिदायत
सीएम योगी ने बैठक में साफ किया कि सभी पार्टी नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने मनमुटाव को छोड़कर केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाएं। योगी ने पार्टी के सांसद और विधायक को अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर जनता को हो रही परेशानी को सुनने को कहा। साथ ही उन परेशानियों का जल्द से जल्द हल निकालने की हिदायत भी दी। 
जनता के बीच बिताएं अधिक समय 
सीएम योगी ने रविवार को जीडीए सभागार में गोरखपुर, बस्ती और आजमगढ़ मंडल के बीजेपी और सहयोगी दलों के सांसदों, विधायकों के साथ बैठक की। मुख्यमंत्री ने सभागार में उपस्थित 40 से ज्यादा माननीय और असंतुष्ट जनप्रतिनिधियों को पुरानी बातें भुलाकर केंद्र और राज्य की योजनाओं पर काम करने के निर्देश दिए। करीब एक घंटे चली बैठक में मुख्यमंत्री ने सभी को सीधा निर्देश दिया कि वह जनता के बीच पहुंचकर बीजेपी के लिए जमीन तैयार करें और उनके बीच ज्यादा समय बिताएं। 
जीत का दिया मूल मंत्र 
योगी ने कहा कि हर संसदीय क्षेत्र में सड़क निर्माण के लिए 25 करोड़ रुपए की राशि दी जाएगी, ऐसे में सांसद स्थानीय विधायक के साथ बैठक कर सड़कों के लिए प्रस्ताव दें। साथ ही योगी ने विभिन्न क्षेत्रों के बहुप्रतिक्षित महाविद्यालय, पॉलिटेक्निक, आईटीआई, सीएचसी, ओवर ब्रिज की मांग से जुड़ा प्रस्ताव भी देने को कहा। इस मीटिंग के जरिए सीएम योगी ने बैठक में आए माननीयों से लेकर कार्यकर्ताओं तक को 2019 लोकसभा की जीत का मूल मंत्र दिया। 
सरकार की सुनाई उपलब्धियां
सीएम ने बीजेपी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि प्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में 8.85 लाख आवास पिछले एक वर्ष में बने है। 3.60 लाख आवास शहरी क्षेत्र में बनाए गए हैं। किसानों को 10 हजार से एक लाख रुपये तक कर्जमाफी का लाभ दिया गया। वहीं, सौभाग्य योजना के तहत 40 लाख निशुल्क विद्युत कनेक्शन दी गई।