भाजपा को सरकार बनाने का आमंत्रण देकर राज्यपाल ने लोकतंत्र की हत्या की: कैप्टन अमरिंदर

By - May 17, 2018 01:35 PM
भाजपा को सरकार बनाने का आमंत्रण देकर राज्यपाल ने लोकतंत्र की हत्या की: कैप्टन अमरिंदर

चंडीगढ़: कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सरकार बनाने का आमंत्रण देने के कर्नाटक के राज्यपाल वाजुभाई वाला के फैसले को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लोकतंत्र और संविधान की हत्या करार देते हुए आज कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राज्यपाल से आप उम्मीद भी क्या कर सकते हैं। कैप्टन अमरिंदर ने यहां जारी बयान में कहा कि अल्पमत वाली पार्टी को सरकार बनाने का आमंत्रण देकर राज्यपाल ने लोकतंत्र और संविधान की हत्या की है। उन्होंने कहा कि यह भी आश्चर्यजनक है कि राज्यपाल ने भाजपा को विश्वासमत हासिल करने के लिए 15 दिन का समय दिया ताकि विपक्ष को तोड़ा जा सके और विधायकों की खरीद फरोख्त की जा सके। पूरे घटनाक्रम को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि जो हो रहा है वह न सिर्फ दुखद है ,बल्कि भारत के लिए खतरनाक भी है। उन्होंने कहा, “हम नहीं चाहते कि पाकिस्तान भारत की तरह बने जहां तानाशाहों और सेना ने लोकतंत्र को हर कदम पर नुकसान पहुंचाया है।“
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि देश कर्नाटक के राज्यपाल से जानना चाहता है कि किस आधार पर उन्होंने भाजपा को सरकार बनाने के लिए न्यौता दिया जबकि त्रिशंकु नतीजों की सूरत में हाल में गोवा और मणिपुर की मिसालें स्पष्ट रूप से बहुमत वाले चुनाव-बाद गठबंधन के पक्ष में हैं। सरकार को बहुमत वाली पार्टियों को सरकार बनाने और तुरंत विश्वासमत हासिल करने को कहना चाहिए था।
उन्होंने उम्मीद जताई कि उच्चतम न्यायालय अब संवैधानिक सिद्धांतों की रक्षा करेगा। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर कहा, “कर्नाटक में लोकतंत्र की हत्या की गई है। यह भारत के भविष्य के लिए ठीक नहीं है। सबकी निगाहें उच्चतम न्यायालय पर हैँ कि वह संवैधानिक मूल्यों, जिनकी बुनियाद पर हमारा राष्ट्र टिका है, की रक्षा करेगा।