भाजपा ने राह बदली, सिद्धारमैया को छोड़कर राहुल को बनाया निशाना

By - May 13, 2018 06:40 AM
भाजपा ने राह बदली, सिद्धारमैया को छोड़कर राहुल को बनाया निशाना

शुरू में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पर हमला बोलने और उनको गालियां देने के बाद भाजपा नेताओं ने अपनी राह बदल ली। मोदी ने कर्नाटक में चुनाव अभियान शुरू करते हुए सिद्धारमैया पर जबरदस्त हमले बोले थे और राज्य में कांग्रेस नीत सरकार को ‘सिद्धरुपैया सरकार’ बताया था। भाजपा नेता ने सिद्धारमैया पर राज्य को लूटने आदि सभी तरह के आरोप लगाए मगर मोदी ने अचानक अपनी राह बदल दी और सारा जोर राहुल गांधी की तरफ लगा दिया। यह कांग्रेस अध्यक्ष ही थे जो अब मोदी की चुनाव रैलियों का कहर सहन करते रहे। मालूम हुआ है कि सर्वेक्षकों ने बताया है कि ‘कन्नाडिगा उप-राष्ट्रवाद’ जमीनी तौर पर काम कर रहा है और मुख्यमंत्री क्षेत्रीय गर्व का लाभ उठाने में सफल हो रहे हैं।
सिद्धारमैया ने मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को निशाना बनाया जो भारतीय नेता होते हुए दक्षिण भारत के नेता पर हमला कर रहे हैं इसलिए यह अभियान मोदी बनाम राहुल में बदल गया और प्रधानमंत्री सिद्धारमैया से टकराव लेने से बचते रहे। भाजपा ने सिद्धारमैया के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप भी लगाने कम कर दिए क्योंकि भाजपा का अपना मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार भी इस मामले में बेहतर रिकार्ड वाला नहीं है। वास्तव में सिद्धारमैया ट्विटर पर भाजपा के लिए एक दु:स्वप्र प्रमाणित हो रहे हैं और प्रचार के हर गुजरते दिन में वह मजबूत होते रहे। परिणाम चाहे कुछ भी हो, सिद्धारमैया एक प्रभावशाली नेता के रूप में उभर रहे हैं।