केंद्र व प्रदेश की लोकलुभावन उपयोगी योजनाओं का प्रचार प्रसार कर जन जन तक पहुंचाये-माला श्रीवास्

By Ekta srivastava - May 17, 2018 12:52 PM
केंद्र व प्रदेश की लोकलुभावन उपयोगी योजनाओं का प्रचार प्रसार कर जन जन तक पहुंचाये-माला श्रीवास्

 

योजनाओं का व्यापक प्रचार प्रसार करने हेतु जिलाधिकारी ने दिए कड़े निर्देश

निलय टाइम्स कर्यालय

एकता श्रीवास्तव

बहराइच 17 मई। जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने बुधवार को देर शाम कैम्प कार्यालय पर कृषि सेक्टर की योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया कि कृषि सेक्टर से सम्बन्धित सभी विभाग किसानों का अधिक से अधिक पंजीकरण करायें ताकि किसानों का एक संकलित डाटा तैयार हो सके जिससे उन्हें कृषि सेक्टर से सम्बन्धित योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ देने में किसी प्रकार की समस्या न आने पाये। बैठक में एआर को-आपरेटिव, भूमि संरक्षण अधिकारी (कृषि), सहायक अभि. लघु सिंचाई, डिप्टी आरएमओ, डेयरी प्रभारी की अनुपस्थिति पर कड़ा रोष व्यक्त करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों से स्पष्टीकरण प्राप्त करने के साथ-साथ वेतन बाधित करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि माहवार लक्ष्य निर्धारित कर विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करायें।  

कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं खाद, बीज की उपलब्धता एवं वितरण, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, बर्मी कम्पोस्ट, कृषक पंजीकरण, प्रधानमंत्री फसली बीमा योजना, फसली ऋण एवं किसान क्रेडिट कार्ड, फसल आच्छादन, भूमि संरक्षण आदि योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान उप निदेशक कृषि डा. आरके सिंह ने बताया कि जनपद में कृषकों की संख्या 505792 है, शुद्ध बोया गया क्षेत्रफल 319865 हेक्टेयर है और सिंचित क्षेत्रफल 205330 हेक्टेयर है। राजकीय नलकूपों की संख्या 355 तथा टेलों की संख्या 168 है। जबकि निजी नलकूपों की संख्या 65138 है। 

खाद, बीज की उपलब्धता की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जनपद में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष पर्याप्त मात्रा में उर्वरक का स्टाक रखा जाय ताकि किसानों को उर्वरकों के लिए किसी प्रकार की समस्या न हो। किसान क्रेडिट कार्ड की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि विगत पांच वर्ष में सभी बैंकों के शाखावार जारी केसीसी का वर्षवार डाटा संकलित कर एक सप्ताह मंे उपलब्ध कराना सुनिश्चित करंे। 

प्रधानमंत्री फसली बीमा योजना की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने बीमा कम्पनी को निर्देश दिया कि जनपद के शतप्रतिशत किसानों को योजना से आच्छादित करने के लिए व्यापक प्रचार प्रसार करें और जगह-जगह पर कार्यशाला का आयोजन करें जिससे अधिक से अधिक किसानों को योजना की जानकारी हो सके तथा योजना का लाभ उठा सकें। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि सम्पूर्ण समाधान दिवसों पर स्टाल लगाकर भी योजनाओं का प्रचार प्रसार करें। योजनाओं से सम्बन्धित प्रचार साहित्य का वितरण भी सुनिश्चित करायें ताकि जनपद के अधिक से अधिक किसान योजना का लाभ प्राप्त कर सकें। इसके अलावा बैठक मंे अन्य योजनाओं एवं कार्यक्रमों की भी गहन समीक्षा की गयी। इसी प्रकार उद्यान, पशुपालन, मत्स्य, रेशम, गन्ना, भूमि संरक्षण, विपणन, दुग्ध आदि विभागों के योजनाओं एवं कार्यक्रमों की भी समीक्षा की गयी।

इस अवसर पर जिला कृषि अधिकारी राम शिष्ट, नोडल अधिकारी स.न.ख. एके सिंह, जिला गन्नाधिकारी एसके मौर्य, उद्यान निरीक्षक आरके वर्मा, उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. शिवकुमार, कृषि रक्षा अधिकारी आरडी वर्मा, सहायक निदेशक मत्स्य बृजेश कुमार, डीएचओ पारस नाथ सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी, बैंक प्रतिनिधि व बीमा कम्पनी के प्रतिनिधि मौजूद रहे।