बाढ़ के दौरान ड्रोन व सेटेलाइट कैमरों से होगी निगरानी: डीएम माला श्रीवास्तव

By Ekta srivastava - Jun 14, 2018 12:25 PM
बाढ़ के दौरान ड्रोन व सेटेलाइट कैमरों से होगी निगरानी: डीएम माला श्रीवास्तव

बाढ़ के दौरान ड्रोन व सेटेलाइट कैमरों से होगी निगरानी: डीएम माला श्रीवास्तव

निलय टाइम्स

एकता श्रीवास्तव

बहराइच 14 जून। राष्ट्रीय आपदा प्रबन्ध प्राधिकरण के तत्वावधान में प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जनपदों में आयोजित होने वाले माॅक ड्रिल का जिलाधिकारी (कमाण्डर) माला श्रीवास्तव ने पुलिस अधीक्षक (सेफ्टी आफिसर) सभाराज के साथ जिला मुख्यालय स्थित आपदा प्रबन्ध केन्द्र (इमरजेन्सी कन्ट्रोल रूम) में स्थापित लाजिस्टिक सेक्शन, प्लानिंग सेक्शन तथा आपरेशन सेक्शन का निरीक्षण करके शुभारम्भ किया। .इस अवसर पर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिले में संभावित बाढ़ के दौरान ड्रोन व सेटेलाइट कैमरों की व्यवस्था के लिए शासन से माॅग की गयी है। 

उल्लेखनीय है कि माॅक ड्रिल की कमाण्डर जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने सेफ्टी आफिसर पुलिस अधीक्षक सभाराज के साथ निर्धारित समय प्रातः 09ः00 बजे जिला मुख्यालय स्थित कन्ट्रोल रूम पहुॅच कर माॅक ड्रिल के लिए स्थापित किये गये लाजिस्टिक सेक्शन, प्लानिंग सेक्शन तथा आपरेशन सेक्शन का निरीक्षण कर मौके पर मौजूद अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये। 

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में संभावित बाढ़ के दृष्टिगत नदियों के जल स्तर पर सतत् दृष्टि रखने, वार्निंग की सूचना समस्त सम्बन्धित को पहुॅचाने, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से सूचना प्राप्त कर सम्बन्धित प्रभारियों को अवगत कराते हुए आपदा प्रभावित व्यक्तियों तक राहत पहुॅचाने, बाढ़ प्रभावित लोगों की आवश्यकताओं का आंकलन करने, राहत सामग्री पहुॅचाते हुए क्षति का आंकलन आदि समस्त कार्यों के सम्पादन हेतु पूर्वाभ्यास के लिए लाजिस्टिक सेक्शन, प्लानिंग सेक्शन तथा आपरेशन सेक्शन स्थापित किया गया है। यहाॅ पर तैनात अधिकारी माॅक ड्रिल स्थल कायमपुर से सीधे सम्पर्क में रहकर बाढ़ के पूर्वाभ्यास में अपनी भूमिका का निर्वहन करेंगे।

जिलाधिकारी ने बताया कि लाजिस्टिक सेक्शन अन्तर्गत संचार, चिकित्सा, खाद्यान्न, क्षतिपूर्ति आदि उपलब्ध कराये जाने के बारे में पूर्वाभ्यास कराया जायेगा। इस गतिविधि के लिए मुख्य विकास अधिकारी, उप जिलाधिकारी सदर व डिप्टी आर.एम.ओ. को प्रभारी नामित किया गया है। जिनके द्वारा जानकारी प्रदान की जायेगी। प्लानिंग सेक्शन अन्तर्गत बाढ़ सूचना एकत्रित करना, मूल्यांकन एवं प्रदर्शन, संसाधनों का अनुरक्षण तथा उसकी खोज करना, बाढ़ कार्ययोजना तैयार करने के लिए पूर्वाभ्यास कराया जायेगा। इस कार्य के प्रभारी अधिकारी नगर मजिस्ट्रेट व मनोरंजन कर अधिकारी होंगे। जबकि आपरेशन सेक्शन के तहत बाढ़ से बचाव के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए आवश्यक योजना पूर्ण किए जाने हेतु कार्यवाही संचालित करने का पूर्वाभ्यास कराया जायेगा। इस कार्य के लिए अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण व ज्वाईन्ट मजिस्ट्रेट प्रशिक्षु आईएएस को प्रभारी अधिकारी की जिम्मेदारी सौंपी गयी है।