मानसिक बीमारी का संकेत हैं आपकी ये आदतें

By - Jul 10, 2018 05:12 AM
मानसिक बीमारी का संकेत हैं आपकी ये आदतें

बदलता लाइफस्टाइल और तनावभरी जिंदगी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर डालती है। इसके कारण लोग माइग्रेन, डिप्रैशन और दूसरी दिमागी बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। कुछ मानसिक रोग तो ऐसे होते हैं जो सामान्‍य बीमारी से शुरू होकर गंभीर रूप ले लेते हैं। इसलिए किसी भी हैल्थ प्रॉब्लम को छोटा समझकर उसे इग्नोर नहीं करना चाहिए। आज हम आपको कुछ ऐसी ही हैल्थ प्रॉब्लम के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे आप छोटा समझकर इग्नोर कर देते हैं लेकिन यही समस्याएं बाद में मानसिक रोग का कारण बन जाते हैं।
1. डिप्रैशन
भागदौड़भरी लाइफ के कारण आजकल लोग डिप्रैशन या तनाव का शिकार हो जाते हैं। मगर आपको बता दें कि यह एक तरह का मानसिक रोग है। समय रहते डिप्रैशन और तनाव को दूर न करने पर यह गंभीर रूप ले लेता है।
2. साइक्‍लोथीमिया (Cyclothymia)
आनुवांशिक रूप से होने वाली यह बीमारी महिलाओं को पुरूषों को सामान रूप से प्रभावित करती है। दिमाग में होने वाली यह समस्या एक द्विध्रुवी विकार है, जिसका आजतक पता नहीं चल पाया है। मगर यह समस्या लोगों में आनुवांशिक भी हो सकती है।
3. क्‍लेप्‍टोमनिया (Kleptomania)
कुछ लोगों को छोटी-छोटी मामूली चीजें चोरी करने की आदत होती है लेकिन आपको यह नहीं पता कि यह एक मानसिक बीमारी है। इस बीमारी से ग्रस्त लोग जानबूझ कर नहीं बल्कि मानसिक प्रॉब्लम के चलते सामान चुराते हैं।
4. पाइरोमनिया (Pyromania)
इस मानसिक प्रॉब्लम से ग्रस्त इंसान को हद से ज्यादा गुस्सा आता है। यह मानसिक रोग बच्चों से लेकर बड़ों तक को हो सकता है। इस बीमारी से ग्रस्त होने वाला व्यक्ति अपने गुस्से पर कंट्रोल नहीं कर पाता।
5. स्‍लीप पैरालिसिस (Sleep Paralysis)
क्या आप भी सोते हुए अचानक उठ जाते हैं या अपने शरीर को हिला नहीं पाते? अगर ऐसा है तो आप स्लीप पैरालिसिस यानि निद्रा लकवा के शिकार हैं। स्लीप पैरालिसिस की स्थिति आपको बुरे सपनों का अहसास करवाती है। इस बीमारी से ग्रस्त लोगों को कई बार पूरी रात नींद नहीं।
6. ट्रीकोटिलोमनिया (Trichotillomania)
इस बीमारी से ग्रस्त लोगों हर बुरी सिचुएशन में अपने बाल खींचते है। वहीं, कुछ लोग ऐसे भी है जो अपने बाल खाते हैं। तनाव और पीटीएसडी से ग्रस्त लोगों में इस बीमारी के लक्षण बढ़ भी जाते हैं।
7. कृत्रिम विकार (Factitious Disorder)
इस बीमारी के लोग मानसिक और दिमागी तौर पर आलसी हो जाते हैं। वह काम से ची चुराते हैं और किसी भी काम को करना पसंद नहीं करते।
8. डीरियलाइजेशन (Derealization)
इस बीमारी से ग्रस्त लोगों को अपने आस-पास की हर चीज झूठ लगती है। यह बीमारी लोगों में मिरगी, माइग्रेन और सिर पर हल्‍के चोट के कारण हो सकती है। इसमें नींद न आना, बॉर्डर लाइन पर्सनॉलिटी डिसऑर्डर और सीजोफ्रेनिया जैसी समस्‍या के लक्षण दिखाई देते हैं।
9. भांग खाना
जिन लोगों को भांग खाने की हद से ज्यादा आदत होती है उन्हें Cannabis Dependence डिसऑर्डर होता है। इसमें व्यक्ति अगर भांग न खाए तो उसे बेचैनी और अनिद्रा की समस्‍या होने लगती है।
10. एगरफोबिया (Agoraphobia)
एगरफोबिया से ग्रस्त लोगों को भीड़ से डर लगता है और उन्हें ऐसी जगह पर जाने से भी प्रॉब्लम होती है। कुछ मामलों में ऐसे रोगी घर से बाहर भी निकलने से परहेज करते हैं। वहीं, कुछ लोग घर में ज्यादा लोगों को देखकर घबरा भी जाते हैं।