FIFA World Cup: क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए पहली बार उतरेगा जापान

By - Jul 02, 2018 07:23 AM
FIFA World Cup: क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए पहली बार उतरेगा जापान

रूसः एशियाई झंडा बुलंद रखे हुए जापान का आज जब बेल्जियम की मजबूत टीम से राउंड 16 का मुकाबला होगा तो उसका एक ही लक्ष्य होगा कि उलटफेर कर पहली बार फीफा विश्व कप के क्वार्टरफाइनल में पहुंचा जाए। भाग्य और साफ सुथरे खेल के सहारे राउंड 16 में पहुंचे जापान को ग्रुप जी की शीर्ष टीम बेल्जियम के खिलाफ कुछ करिश्मा करना होगा तभी उसका पहली बार क्वार्टरफाइनल में जाने का सपना पूरा हो पायेगा। जापान की टीम इससे पहले 2002 और 2010 में प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने में सफल रही थी लेकिन दोनों ही मौकों पर हार गई थी।  
2002 में जापान को तुर्की ने 1-0 से हराया था जबकि 2010 में पैराग्वे के खिलाफ अतिरिक्त समय तक मुकाबला गोलरहित बराबर रहने के बाद जापान को पेनल्टी शूटआउट में 3-5 से हार का सामना करना पड़ा। जापान को इस विश्व कप में अपने अंतिम ग्रुप मैच में पोलैंड के खिलाफ 0-1 से हार का सामना करना पड़ा था लेकिन सेनेगल से कम पीले कार्ड मिलने पर टीम ने प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली।  
जापान को राउंड 16 में अब बेल्जियम से भिडऩा है जिसने ग्रुप चरण में अपने तीनों मैच जीते और पनामा को 3-0 से, ट्यूनीशिया को 5-2 से तथा इंग्लैंड को अपने नौ शीर्ष खिलाडियों को विश्राम देने के बावजूद 1-0 से पराजित किया। इस टीम के लिए माना जा रहा है कि यह विश्व कप में लम्बा सफर तय करेगी। 
राबर्टो मार्टिनेज की टीम को हालांकि जापान से सावधान रहना होगा और देखना होगा कि यूरो 2016 का क्वार्टर फाइनल नहीं दोहराया जाए जहां बेल्जियम को वेल्स के खिलाफ 1-3 से हार का सामना करना पड़ा था। बेल्जियम के प्रमुख फॉरवर्ड ड्राइज मर्टेन्स का भी कहना है कि जापान कमतर नहीं है और यदि वह टीम यहां तक पहुंची है तो वह निश्चित रूप से एक अच्छी टीम है।  
रूस में अब तक नौ गोल दाग चुकी बेल्जियम की टीम मौजूदा विश्व कप में सर्वाधिक गोल करने वाली टीम है। टीम के स्ट्राइकर रोमेलू लुकाकु ग्रुप चरण में ट्यूनीशिया और पनामा के खिलाफ दो-दो गोल कर चुके हैं। टीम 32 साल पहले मैक्सिको में 1986 में हुए टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रही थी और इस बार उस इतिहास को दोहरा सकती है।