गाजा हिंसा मामला: तुर्की ने बुलाई इस्लामिक देशों की आपात बैठक

By - May 15, 2018 07:05 AM
 गाजा हिंसा मामला: तुर्की ने बुलाई इस्लामिक देशों की आपात बैठक

इस्तांबुलः तुर्की ने गाजा में हुई हिंसा में 55 फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों की मौत पर इसी सप्ताह इस्लामिक सहयोग संगठन (ओ.आई.सी.) की आपात बैठक बुलायी है। तुर्की के सरकारी प्रवक्ता ने यह जानकारी दी।  सरकारी प्रवक्ता बेकीर बोजडाग ने कहा कि तुर्की शुक्रवार को इस मामले पर आपात बैठक करना चाहता है। 
कल गाजा में इजराइली सैनिकों के साथ फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों की झड़प में कम से कम 55 फिलस्तीनी मारे गए जो वर्ष 2014 के बाद से एक दिन में सबसे ज्यादा है। अमेरिका ने यरूशलम में अपना दूतावास खोलने के विरोध में ये लोग प्रदर्शन करते हुए गाजा सीमा की ओर जा रहे थे। गोलीबारी में 900 फिलिस्तीनी घायल हो गए जिनमें से 450 लोग गोली लगने से घायल हुए हैं।
दूतावास खुलने पर अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा महान दिन
अमरीकी राजदूत ने कहा कि कदम राष्ट्रपति ट्रम्प के ‘ विजन , साहस और नैतिक स्पष्टता ’ का परिणाम है जिनके हम हमेशा ऋणी रहेंगे। यरूशलम में दूतावास खुलने पर ट्रम्प ने सुबह के अपने ट्वीट में इसे ‘इस्राइल के लिए एक महान दिन’ बताया। उन्होंने सुबह के इस ट्वीट में हिंसा का कोई जिक्र नहीं किया , लेकिन कहा , ‘ इस्राइल के लिए एक महान दिन ’।
अमरीका एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल दूतावास खुलने संबंधी समारोह में शामिल हुआ जिसमें अमरीकी उप विदेश मंत्री जॉन सुलिवन , वित्त मंत्री स्टीवन मुनचिन , वरिष्ठ सलाहकार एवं ट्रम्प के दामाद जेअर्ड कुशनेर , वरिष्ठ सलाहकार एवं ट्रम्प की बेटी इवांका ट्रम्प और अंतरराष्ट्रीय वार्ता मामलों के विशेष प्रतिनिधि जैसन ग्रीनब्लैट शामिल थे। इस अवसर पर इस्राइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू भी मौजूद थे।