मां होंगी नाराज, चैत्र नवरात्र में भूलकर भी न करें ये गलतियां

By - Mar 16, 2018 05:54 AM
मां होंगी नाराज, चैत्र नवरात्र में भूलकर भी न करें ये गलतियां

चैत्र नवरात्र में मां दुर्गा के नौ रूपों की नौ दिन विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। इन दिनों में भक्त दिन व रात अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए पूरी श्रद्धा-भावना से मां की आराधना करते हैं। लेकिन कई बार लोग नवरात्रों में कुछ एेसी कुछ गलतियां कर बैठते हैं, जिनकी वजह से उनकी इच्छाएं पूरी नहीं हो पाती। यदि लोग चैत्र नवरात्र में निम्न दी गई बातों से बचें तो उनकी समस्त मनोकामनाएं जल्द से जल्द से पूरी होती हैं। विशेष रूप से ये बातें उन लोगों पर अधिक प्रभाव डालती हैं जो नौ दिन व्रत व उपवास करते हैं।

  • दिन में न सोएं, दिन में सोने से आयु कम होती है तथा शरीर में आलस्य बना रहता है।
  • नवरात्र के नौ दिनों में बाल-नाखून न काटें। हालांकि बच्चे का मुंडन संस्कार करवाने के लिए ये दिन सही माने जाते हैं।
  • यदि नौ दिन का उपवास कर रहे हों तो घर से बाहर नहीं जाना चाहिए। यदि जा रहे हैं तो घर पूरी तरह से बंद बिल्कुल भी न करें।
  • चैत्र नवरात्र के समय शरद ऋतु के उपरांत वर्षा ऋतु आती है। ऐसे में वृक्षों में लगे पुष्प, फल में परिवर्तित होते हैं। यह समय उनका गर्भाधारण कहलाता है। इसलिए इन दिनों में देवी को अन्न का भोग अर्पित नहीं करना चाहिए।
  • नवरात्र राक्षसी शक्तियां के अंत का समय है, इसलिए अंधकार में न रहें और काले रंग के वस्त्र न पहनें।
  • तामसिक प्रकार का भोजन जैसे प्याज-लहसुन, मांस-मदिरा का सेवन न करें।
  • खट्टे और चटपटे पदार्थों का सेवन उपवास में न करें। ऐसा करने पर इंद्रियां अपना प्रभाव बदल सकती हैं।
  • नवरात्र के समय घर पर आई किसी भी कन्या को भोजन अवश्य करवाएं और उसे खाली हाथ विदा न करें।