PM मोदी का राहुल पर वार, कहा- भागीदारी का इल्जाम है इनाम

By - Jul 29, 2018 05:54 AM
PM मोदी का राहुल पर वार, कहा- भागीदारी का इल्जाम है इनाम

लखनऊ : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर पलटवार करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि गरीब, शोषित, वंचित और महिलाओं की दु:ख तकलीफ का भागीदार बनने से उन्हें गर्व की अनुभूति होती है और वह‘भागीदार’की संज्ञा से नवाजे जाने को इल्जाम नहीं बल्कि ईनाम मानते हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना, अमृत योजना और स्मार्ट सिटी योजना की तीसरी वर्षगांठ के मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि देशवासियों के जीवन को सरल, सुगम और सुरक्षित बनाने का संकल्प आज तीन साल बाद अधिक मजबूत हुआ है। अटलजी ने जो बीड़ा उठाया था, उसे नई बुलंदी देने के लिए हमारी सरकार करोड़ों देशवासियों के साथ मिलकर आगे बढ़ रही है। शहरी परिवहन में बहुत बड़ा परिवर्तन लाने वाली मेट्रो को सबसे पहले दिल्ली में जमीन पर उतारने का काम अटल जी ने किया था। 
राहुल गांधी पर किया पलटवार
करीब एक सप्ताह पहले लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस बयान पर जिसमें उन्होंने कहा था कि देश का चौकीदार दरअसल भागीदार है, पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझ पर एक इल्जाम लगा है कि मैं चौकीदार नहीं, भागीदार हूं। मैं इस इल्जाम को इनाम मानता हूं। मुझे गर्व है कि मैं भागीदार हूं गरीबों की तकलीफों का, मैं भागीदार हूं उस मां की पीड़ा का जो चूल्हे के धुएं में आंखें खराब करती है। मैं भागीदार हूं उस किसान के दर्द का जिसकी फसल सूखे या पाले में बर्बाद हो जाती है, मैं भागीदार हूं उस गरीब परिवार की पीड़ा का जो इलाज के लिए जमीन बेचने को मजबूर हो जाता था। मैं भागीदार हूं उस कोशिश का जो गरीबों को छत दे रही है। मैं भागीदार हूं उस कोशिश का जिसने युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए।
गरीबी ने मुझे ईमानदारी की ताकत दी
उन्होंने कहा कि गरीबी ने उन्हें ईमानदारी और ताकत दी है। उन्होंने गरीबी की मार को करीब से झेला है और उसके दंश को महसूस किया है। मोदी ने गरीबों के दर्द को ‘जेहिके पांव न होय बेवाई सो का जानै पीर पराई-से’ के जुमले से संबोधित करते हुए कहा कि वह गरीब की बेहतरी के लिए, उससे मजबूत छत और साफ पीने के पानी के लिए सोचते हैं। उनकी सरकार देश के गरीब, बेघर के जीवन को बदलते हुए देखना चाहती है।