गर्मियों की छुट्टियों में जरूर करें इन झरनों की सैर

By - Jun 24, 2018 05:10 AM
गर्मियों की छुट्टियों में जरूर करें इन झरनों की सैर

गर्मियों की छुटि्टयों में ठंडक का मजा लेने के लिए आप भी किसी ऐसी जगह घूमने का प्लान बनाते हैं, जहां झरने, झीलें, नदी या समुद्र हो। आज हम आपको गर्मियों में घूमने के लिए भारत के ऐसे ही कुछ खूबसूरती हिल स्टेशन के बारे में बताने जा रहे हैं। यहां घूमने के साथ-साथ आप खूबसूरत और ठंडे पानी वाले झरनों का मजा भी ले सकते हैं। तो चलिए जानते हैं गर्मियों में घूमने के लिए भारत के ऐसे खूबसूरत वॉटरफॉल के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां आप एडवेंचर और मस्ती का पूरा मजा ले सकते हैं।
1. मसूरी, Kempty Waterfall
पहाड़ों रानी मसूरी में घूमने के साथ-साथ आप इस झरने का मजा भी ले सकते हैं। इस झरने तक जाने के लिए आपको ट्रैकिंग करनी पड़ती है, जोकि आपके सफर को और भी मजेदार बना देगा।
2. सोलन, Badri Waterfall
अगर आप गर्मियों की छुट्टियों में सोलन घूमने का प्लान बना रहे हैं तो इस झरने को देखना न बीलें। यहां आपको प्राकृति के बहुत ही खूबसूरत नजारे देखने को मिलेगें। इस झरने से गिरता हुआ पानी और पहाड़ों का अनोखा संगम आपको यहां दोबारा आने के लिए मजबूर कर देगा।
3. शिमला, Chadwick Fall
गर्मियों में घूमने के लिए शमिला सबसे फेमस टूरिस्ट प्लेस में से एक हैं लेकिन यहां जाकर आप चाडविक फॉल्स को जरूर देखने जाएं। खूबसूरत वादियों से घिरे इस झरने की खूबसूरती देखकर आपका मन वापस आने को नहीं करेगा।
4. बूंदी, Bhimlat Waterfall
जून से सितंबर के बीच घूमने के लिए बूंदी बिल्कुल परफेक्ट जगहें हैं। इस बीच बूंदी का मौसम बेहद सुहाना अौर ठंडा होता हैं। इसके अलावा यहां का Bhimlat फॉल्स भी टूरिस्ट के बीच काफी फेमस है।
5. धर्मशाला, Mancherial Waterfall
इस झरने तक जाने के लिए भी आपको ट्रैकिंग करनी पड़ेगी। एडवेंचर से भरा यह ट्रिप आपके सफर को यादगार बना देगा। अपकी सफर की थकान झरने के ठंडे पानी की सिर्फ एक बूंद से ही दूर हो जाएगी।
6. मनाली-लेह, Sissu Waterfall
मनाली से लेह की तरफ़ बढ़ने पर Sissu फॉल्स आपकी गाड़ियों में खुद-ब-खुद ब्रेक लगा देगा। यहां के पहाड़ों के बीच से गिरता पानी किसी हसीन सपने से कम नहीं है।
7. अमृतधारा
अमृतधारा झरना छत्तीसगढ़ के आकर्षण का केंद्र होने के साथ-साथ अपने खूबसूरत नजारों और शांति के लिए भी मशहूर है। इसके किनारे बैठकर आपको प्रकृति के करीब होने का अहसास होगा। छत्तीसगढ़ को जंगलों की भूमि भी कहा जाता है। क्योंकि इसके चारों तरफ पहाड़ियां और जंगल ही दिखाई देते हैं।