प्रदेशवासियों पर भारी पड़ा योगी सरकार का गुजरा साल

By - Mar 19, 2018 09:01 AM
प्रदेशवासियों पर भारी पड़ा योगी सरकार का गुजरा साल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में पहली सालगिरह के जश्न की तैयारी में मशगूल योगी सरकार पर तंज कसते हुए भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने कहा है कि सरकार का गुजरे साल पर जनता ने अपनी प्रतिक्रिया फूलपुर और गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव परिणामों के जरिए दे दी है। पार्टी के राज्य सचिव सुधाकर यादव ने आज जारी बयान में कहा कि योगी सरकार का गुजरा साल प्रदेशवासियों विशेष रुप से दलितों, अल्पसंख्यकों, गरीबों और महिलाओं पर भारी पड़ा। इस दौरान समाज में सामंती ताकतों का मनोबल बढ़ा और सत्ता की शह व संरक्षण से उन्होंने दलितों पर कहर बरपाया। पूर्वांचल, बुंदेलखंड व तराई समेत पूरे प्रदेश में दलित व महिला उत्पीड़न की घटनाएं हुई हैं, उससे यह बात साबित होती है कि योगी का प्रशासन कमजोर वर्ग की सुरक्षा करना तो दूर, वह दबंगों के पक्ष में झुका हुआ है। माले नेता ने कहा कि किसान कर्जमाफी छलावा साबित हुई। कर्ज से परेशान किसानों द्वारा आत्महत्या की घटनाएं जारी हैं। कानून व्यवस्था समेत लोकतंत्र और मानवाधिकारों का बुरा हाल है। माफिया मजबूत हुआ, फर्जी मुठभेड़ों में निर्दोष मारे जा रहे हैं वहीं लखीमपुर खीरी में पुलिस हिरासत में दलित हत्या की घटना हुई। सरकारी भूमि से कब्जा हटाने के नाम पर भूमिहीन और गरीब परिवारों को मिर्जापुर, चंदौली समेत तमाम जिलों में उजाड़ कर खुले आसमान के नीचे ला दिया गया, वहीं भूमाफियाओं और अवैध कब्जा जमाए दबंगों का बाल भी बांका नहीं हुआ।