आदिवासी युवती से दो कर्मचारियों किया गैंगरेप

By - Jul 12, 2018 07:38 AM
आदिवासी युवती से दो कर्मचारियों किया गैंगरेप

भोपाल: भोपाल के आईएसबीटी स्थित राजहंस रिजेंट होटल के दो दरिंदे कर्मचारियों ने राजधानी को फिर कलंकित कर दिया। मंडला की रहने वाली 21 वर्षीय आदिवासी युवती काम की तलाश में सागर से भोपाल आई थी। उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर दरिंदे कर्मचारियों ने उससे गैंगरेप किया। बुधवार तड़के 4 से 5 बजे के बीच शाहपुरा थाने की एफआरवी ने युवती को दाना-पानी रेस्टॉरेंट के पास से बरामद कर लिया। बाद में उसे गोविंदपुरा पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने दोनों दरिंदों का गिरफ्तार करके उनका जुलूस निकाला। गोविंदपुरा पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म व धमकी का केस दर्ज किया है। बाद में पुलिस ने युवती के परिचित शैलेष को गिरफ्तार कर लिया।
एसपी राहुल कुमार लोढा ने बताया कि पुलिस गिरफ्त में आए दोनों आरोपियों ने अपनी पहचान मूलत: ललितपुर निवासी 28 वर्षीय जितेंद्र उर्फ मोनू पिता रमेश शर्मा और बीना निवासी 21 वर्षीय राहुल पिता राजकुमार ठाकुर के रूप में बताई है।
पुलिस की कहानी के मुताबिक ये युवती बुधवार सुबह सागर से आने वाली रीवांचल या राज्यरानी एक्सप्रेस से भोपाल या हबीबगंज स्टेशन पहुंची थी। ट्रेन से उतरते ही उसने अपने परिचित किसी शैलेष कुशवाह को मोबाइल किया। शैलेष ने उसे आईएसबीटी बस स्टैंड पर बुलाया। युवती दोपहर 1 बजे पैदल ही बस स्टैंड पहुंची। वहां शैलेश ने उसे किसी इदरीस खान से मिलवाया। इदरीस ने कहा कि नौकरी और रहने को कमरा भी दिलवा देंगे।
रात साढ़े 9 बजे तक युवती को होटल के बाहर पार्किंग में ही ठहरा दिया गया। फिर इदरीस युवती को लेकर बैरागढ़ चीचली के किसी कमरे पर पहुंचा। वहां पहले से ही राहुल और जीतेंद्र उर्फ मोनी मौजूद थे। दोनों राजहंस होटल के किचन में काम करते हैं। युवती को सोने के लिए बिस्तर दिया गया। राहुल ने उससे दुष्कर्म किया। चिल्लाने पर राहुल ने युवती को तमाचा मार दिया और बाहर चला गया, इसके बाद उसका साथी मोनू आया और उसने भी गलत काम किया।
कुछ देर बाद इदरीस आया, लेकिन युवती ने डर के कारण उसे कुछ नहीं बताया। फिर इदरीस समेत दोनों दरिंदे युवती को लेकर किसी अन्य बिल्डिंग में पहुंचे। जहां के कर्मचारियों ने उन्हें युवती को बाहर ले जाने के लिए कहा। फिर युवती को दाना पानी के पास बरामद किया गया। इदरीस और शैलेश फरार हैं।
एसपी राहुल कुमार लोढा ने बताया कि पुलिस गिरफ्त में आए दोनों आरोपी राजहंस रिजेंट होटल में कुकिंग का काम करते हैं। वह मंगलवार को होटल गए हुए थे, जहां उन्हें वेतन भी मिला था। उनके साथ ही इदरीस खान भी काम करता है, वह वेतन मिलने के बाद इदरीस के साथ रात को युवती को लेकर बैरागढ़ चिचली तरफ गए हुए थे।
शिकायत में युवती ने बताया कि नौकरी के सिलसिले में सागर से भोपाल आई थी। इसी दौरान उसके एक परिचित से उसकी मुलाकात हुई। लेकिन ये परिचित वापस लौट गया। इसी दौरान होटल के 2 कर्मचारियों ने उसे नौकरी झांसा दिया और पास में ही एक कमरे पर ले जाकर उससे दुष्कर्म किया।