सर्वे: नहीं टाला है खतरा, फटने वाला सबसे खतरनाक ज्वालामुखी

By - May 17, 2018 08:48 AM
 सर्वे: नहीं टाला है खतरा, फटने वाला सबसे खतरनाक ज्वालामुखी

वॉशिंगटनः कुछ दिनों पहले ही अमरीका के हवाई आइलैंड पर फटने वाला भयानक किलुआ ज्वालामुखी बेशक ठंडा पड़ गया हो लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। अमरीकी ज्योग्राफिकल सर्वे ने अंदेशा जताया है कि इस ज्वालामुखी में कभी भी भयानक विस्फोट हो सकता है जो बड़े नुकसान की वजह बन सकता है। हवाई की वॉलकैनो ऑब्जर्वेटरी ने बुधवार को ज्वालामुखी से निकलने वाले लावे का टेम्प्रेचर 102 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया।
ऑब्जर्वेटरी ने बताया कि ज्वालामुखी के कई छेदों से बहुत ही हाई लेवल का सल्फर डाईऑक्साइड निकल रहा है, जो आस-पास रहने वाले लोगों के लिए बहुत खतरनाक है। ये हवा में 100 फुट की ऊंचाई तक जा रहा है।दस दिन पहले भी किलुआ में जबरदस्त विस्फोट हुआ था और लावा 330 फुट की ऊंचाई तक उछल गया था। सड़क से लेकर रिहायशी इलाके तक ये 35 मकानों को निगल गया था। वहीं हजारों की संख्या में लोगों को यहां से निकलना पड़ा था। ज्वालमुखी में 10 जगहों से लावा फूटा था, जो 4 लाख स्क्वेयर पुट एरिया में फैल गया था।
अमरीकन जियोग्राफिकल सर्वे के मुताबिक ज्वालामुखी में हो रही एक्टिविटीज कभी भी भयानक रूप ले सकती हैं। इसमें से तेज विस्फोट हो सकता है जिसके चलते 20 हजार फुट तक राख निकलेगी तथा ये 12 मील तक फैलेगा।  बता दें कि इस समय इसमें बड़ी मात्रा में धुआं निकल रहा है जो आसमान में 12 हजार फुट की ऊंचाई तक फैला हुआ है।10 दिन पहले इस ज्वालामुखी में जबरदस्त विस्फोट हुआ था जिसके चलते इसके आस-पास के इलाके को खाली किया गया था। जानकारी के मुताबिक यहो से करीब 2000 लोगों को हटाया गया था। हाल ही में भी इसे लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है जो सबसे हाई लेवल अलर्ट है।